top of page

ऑटो रिक्शा वालों को परेशान करने वाले बजाज फाइनेंस के खिलाफ जंग का ऐलान!!!!

ऑटो रिक्शा वालों को परेशान करने वाले बजाज फाइनेंस के खिलाफ जंग का ऐलान!!!!


बजाज के अधिकारियों को सुधर जाने की सलाह दी अभिजीत राणे ने


अन्यथा 'याचना नहीं, अब रण होगा,

संघर्ष महा भीषण होगा!!!'


मांगें पूरी नहीं हुई तो बुधवार को सैकड़ों "पीड़ित शोषित" रिक्शा वाले जाएंगे बजाज के दफ्तर!




'धड़क ऑटो रिक्शा टैक्सी चालक मालक यूनियन' को बजाज फाइनेंस की रोज सैकड़ों शिकायतें मिल रही हैं। इसलिए "धड़क कामगार यूनियन" ने बजाज फाइनेंस के खिलाफ जंग का ऐलान कर दिया है। शुक्रवार 22 अक्टूबर को यूनियन के संस्थापक महासचिव व सुविख्यात कामगार नेता अभिजीत राणे ने बजाज फाइनेंस के तकरीबन दर्जन भर अधिकारियों को यूनियन दफ्तर में तलब कर कहा कि अब यदि आपकी कम्पनी ने ऑटो रिक्शा टैक्सी वालों को कर्ज वसूली के लिए परेशान किया, उनसे जबरदस्ती की गई, गुंडागर्दी की गई, उनके रिक्शा जब्त किए गए तथा उल्टे सुलटे ब्याज लेने की एक भी शिकायत मिली तो हम बजाज फाइनेंस से धड़क स्टाइल में निपटेंगे।" इस पर बजाज के अधिकारियों ने राणे जी से सभी शिकायतों का समाधान करने का आश्वासन दिया।

अभिजीत राणे के अनुसार मुंबई के ऑटो रिक्शा वालों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। हमारे पास सैकड़ों शिकायतें हैं। उनमें से हम बजाज फाइनेंस को 10 शिकायतें भेज रहे हैं। दो- तीन दिन में यदि उन शिकायतों पर संतोषजनक कार्यवाई न की गई तो 'धड़क ऑटो रिक्शा टैक्सी चालक मालक यूनियन' के बजाज फाइनेंस से पीड़ित, शोषित सदस्य बुधवार को बजाज फाइनेंस के दफ्तर पर फरियाद लेकर जाएंगे। और फिर "याचना नहीं, अब रण होगा, संघर्ष महा भीषण होगा। हम बजाज फाइनेंस को उसकी गलतियों के लिए सबक सिखाकर ही रहेंगे। हम ऑटो रिक्शा वालों को न्याय दिलाएंगे ही।"


यूनियन के संस्थापक महासचिव व सुविख्यात कामगार नेता अभिजीत राणे ने कहा है कि इसके लिए अगर हमें धड़क की स्टाइल में काम करना पड़ेगा तो भी हम पीछे नहीं हटेंगे। हम तो परिणाम लाने में यकीन करते हैं। यह बात उन्होंने बजाज फाइनेंस के सप्तर्षि दासगुप्ता, आर एम सेल्स, प्रवीण घाग, आर एम कलेक्शन, सुनील मिश्रा सीओ, अमित गावजी एएसएम तथा सूरज रन्दिर सीएसएम समेत अन्य अधिकारियों से कही। जिसे उन्होंने एकमत में स्वीकार कर लिया।


सभी ऑटो रिक्शा व टैक्सी वालों की सुविधा के लिए

एक ही पर्याय


उनके सुख दुख की साथी


हमेशा उनके साथ



'धड़क ऑटो रिक्शा टैक्सी चालक मालक यूनियन' जिंदाबाद।


अभिजीत राणे



31 views0 comments

Comentários


bottom of page